Image represent Computer information in hindi

Computer in Hindi

Computer एक electronic device है, जो user के द्वारा डाला गया Input data को process करके store करता है. और user को output data प्रदान करता है..

कंप्यूटर क्या है: Computer एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है, जिसे जटिल डेटा प्रक्रिया को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. मतलब कंप्यूटर एक ऐसा मशीन है. जो कोई भी डेटा को बाइनरी भाषा (0 और 1) के माद्यम से प्रोसेस और संग्रहीत करके user को रिजल्ट प्रदान करता है. Computer सिर्फ 0 और 1 न्यूमेरिक लैंगुएज ही समझता है.

कंप्यूटर क्या है हिंदी में – computer in hindi

Computer in hindi

कंप्यूटर एक ऐसा मशीन है, जिसे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से इंस्ट्रक्शन दिया जाता है. ये आदेश कुछ अंकगणित या तार्किक संचालन (arithmetic or logical operations) के अनुक्रम को पूरा करने के लिए दिया जाता है. और ये मशीन दिए गए अनुदेश को संग्रहीत(store), पुनर्प्राप्त(retrieve), और संसाधित (process data) के अनुक्रम में पूर्ण करता है.

Steps:

आसान भाषा मे परिभाषा दिया जाये तो, कंप्यूटर के माध्यम से दस्तावेज को type करने के बाद, इस machine में सुरक्षित store करके रख सकते है. और बादमे जब भी जरुरत परे उस दस्तावेज(डाटा) को फिरसे पुनर्प्राप्त कर सकते है. इसके इलावा और भी बोहोत सारे काम कंप्यूटर के माध्यम से आसानीसे कर सकते है. जैसे कोई गणितीय गणना कुछ click में ही हमें मिल जाते है.

हमारे मनोरंजन के लिए गेम्स खेल सकते है. computer में मन पसंद मूवीज देख सकते है. वीडियो प्रेजेंटेशन और इमेज प्रेजेंटेशन बना सकते है. नया कला डिजाइन बना सकते है. संज्ञा ये दिया जा सकता है, Computer एक इलेक्ट्रोनिक यंत्र है और हमारे जीवन को गति देनेके लिए बनाई गयी है.

कंप्यूटर कैसे काम करता है

पहले स्टेप में, कंप्यूटर यूजर्स से data collect करता है. Data संग्रहीत करने के प्रक्रिया को input कहते है. फिर data store होता है और processing के लिए आगे बरता है. उसके बाद processed data फिरसे स्टोर किया जाता है. और फाइनली output दिया जाता है. ये प्रक्रिया कुछ निचे दिया गया चित्र जैसा ही होता है.

Computer Work Steps

दिए गए चित्र में, कंप्यूटर की कार्य प्रक्रिया को steps में describe किया गया है. अगर उन्हें मुख्य 3 भागों में उल्लेखित किया जाये तो वो हो सकता है Input Data, Process Data और Output Data.

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया

कंप्यूटर का आविष्कार करने वाले थे चार्ल्स बैबेज। हालांकि इसके अलावा बोहोतोणे छोटा बड़ा योगदान दे कर कंप्यूटर का आजका रूप हमारे सामने लाएं.

कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ

1822 में पहला यांत्रिक कंप्यूटर चार्ल्स बैबेज ने बनाया। जिसका नाम था डिफरेंशियल इंजन.

फुल फॉर्म ऑफ़ कंप्यूटर

कुछ लोग मानते है कंप्यूटर का पूरा नाम “Common Operating Machine Purposely Used for Technological and Educational Research” है. पर इसका कोई ठोस दस्ताबेज नहीं है.

कंप्यूटर की परिभाषा (hardware/software)

दोस्तों हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की बिना computer नहीं चल सकती. इस मशीन का मूल चार काम:
इनपुट
प्रोसेस
आउटपुट
स्टोरेज

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के मदत से ही चलती है. हमने computer hardware और software के बारे में काफी सुन रख्हा है. मगर असल में ये होता क्या है? चलिए जानते है.

computer hardware and software

Hardware
हार्डवेयर आपका कंप्यूटर का हर वो हिस्सा है जो physical components से बनी होती है. मतलब जिसे आप अपने आँखों से देख सकते हो और छू सकते हो वो सभी hardware है. जैसे की आपके computer mouse, keyboard. आपका CPU, PROCESSOR, RAM और हर एक छोटा छोटा पुर्जा सभी हार्डवेयर है.

Software
सॉफ्टवेयर के बात करें तो वह सभी programs और operating information, जो computer को बताता है क्या करना है और किस तरह करना है. असलमे softwares के द्वारा कंप्यूटर कोईभी काम को करने का निर्देश प्राप्त करता है. जैसे की Operating Software, web browsers, word processors, games, Application Software. इसको दो भाग में समझते है.

एक है System Software, जिसे आपका computer OS भी कहा जाता है. जैसे Windows 7,Windows 10, Vista, Xp, Linux, MacOS, Ubuntu इत्यादि. ये आप अपना कंप्यूटर On करते ही home screen पर जो दीखते है. ये आपके कंप्यूटर में न्य program को मैनेज करते है. इसलिए इसे Operating System यानी OS कहते है.

दूसरा है Application software एक software package है, जो एक निर्दिस्ट कार्य को करने के लिए आप अपने कंप्यूटर में डालते है. जैसे की Photoshop, Coreldraw, Microsoft Office (Word, Excel, PowerPoint), Media Player, Google Chrome इत्यादि.

कंप्यूटर के मूल भाग हिंदी में

Basic parts of a computer system
  1. Monitor
  2. CPU (Central Processing Unit)
  3. Keyboard
  4. Mouse
  5. Speakers
  6. Printer
  7. UPS
Basic Parts NameWorkInput/Output/Processing Device/Power Supplier
MonitorDisplay the resultsOutput Device
CPUProcess DataProcessing Device
KeyboardType Data/Entering DataInput Device
MouseGive a input to the computer by PointingInput Device
SpeakersSound OutputOutput Device
PrinterPrint a DataOutput Device
UPSBattery Backup SystemPower Supplier

कंप्यूटर CPU के पुर्जे

Parts of Computer CPU
  1. Motherboard
  2. Processor/CPU
  3. RAM (Random Access Memory)
  4. ROM (Read Only Memory)
  5. BIOS
  6. Hard Disk Drive (HDD) or Solid State Drive (SSD) – Storage
  7. SMPS (switched-mode power supplies)
  8. Graphic Processing Unit (GPU)
  9. Optical Disc Drive (ODD)

दोस्तों बताये गए CPU Parts के नाम के बारे मे हमने डिटेल्स में बताये है. जानने के लिए क्लिक करें Continue Reading

कंप्यूटर के प्रकार – Types of computer in hindi

Size and shapes के हिसाब से computer विभिन्न types का होता है. कंप्यूटर की प्रकार किया जा एकता है उसके usability या प्रयोज्य के हिसाब से. हमारे परिचित कंप्यूटर Desktop और Laptop है. पर अभी इनके अलावा Tablets भी काफी लोकप्रिय कंप्यूटर बन चूका है. Desktop computer सामान्य तौर पर personal computer नाम से परिचित है.

पर इससे भी बड़ी एक कंप्यूटर हमारे इस्तेमाल में रोज लगता है. और हमने नाम भी सुना है. मगर ज्यादातर लोगोको पता ही नहीं की Server भी एक कंप्यूटर ही है. सर्वर के माद्यम से ही आप हमारे Hindi Blog को पढ़ पा रहे हो. ये Internet के साथ जुड़ा हुआ एक बिशाल network की जाल सा होता है. नीचे इसके विषय में और जानकारी प्राप्त करें.

Desktop Computers
(डेस्कटॉप कंप्यूटर)

desktop

हमारे घर पर, ऑफिस, स्कूल में और स्थानीय cyber cafe इस्तेमाल किये जाते है desktop computer. इनमे एक CPU, Monitor, Keyboard, Mouse और UPS रहता है. कुछ कुछ लोग sound system भी लगाते है. मगर ये external part है.

वैसे UPS भी अतिरिक्त हिस्सा ही है. इसके बिना भी कंप्यूटर चल सकता है. ये power cut पर backup देने के लिए एक बेटरी होता है. पर अभी computer के साथ इसे लोग इस्तेमाल करता ही है. Desktop लोग घर पर इस्तेमाल करते है personal काम के लिए, इसीलिए इसे personal computer नाम दिया गया. इसका design एक desk या टेबल पर रखने के लिए किया गया है.

Laptop Computer
(लैपटॉप कंप्यूटर)

laptop

छोटा सा portable computers हम इस्तेमाल करते है, जो दिखने में एक बड़ी डायरी जैसी लगती है. हलाकि ये लगभग 15″ का होता है. इसे हम laptop के नाम से जानते है. इसमें physical component बोहोत छोटे आकार में रहती है.

keyboard laptop body में ही संयुक्त रहती है. और mouse के जगह पर एक touch pad रहती है. जिसे हम ऊँगली से छू कर चलाते है. इनमे सेंसर लगी रहती है. उंगलिको आप जिधर घुमाएंगे माउस के जैसा उधर pointer चलेगी. इसमें speakers भी लगी रहती है. और ज्यादातर लैपटॉप में DVD player भी उपलब्ध रहता है. असलमे ये एक compact computer है. जिसे आप कही भी इस्तेमाल कर सकते हो. और कही भी ले जा सकते हो. इसे rechargeable battery से पावर मिलता है. घर पर आप इसे adapter लगाके सीधा बिजली से भी चला सकते हो.

Tablet computers
(टैबलेट कंप्यूटर)

tablet

Laptop से और भी handy computer है Tablet. इसे आप हाथ पर लेकर काम कर सकते है. ये देखने में एक बड़ा आकार का मोबाइल फ़ोन का जैसा लगता है. इसमें एक touch screen रहता है. जिससे आप type कर सकते हो. और ऊँगली के इस्तेमाल से mobile like काम कर सकते हो. इसमें physical components बहुत ही छोटे आकृति का लगता है. इन तरह का टेबलेट कंप्यूटर में नैनो-टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है. Nano-technologies क्या है? नहीं जानते तो पढ़ लीजिये. खैर, Google’s Nexus 7, Apple iPad, Samsung’s Galaxy Tab ये सब ही टेबलेट है.

Servers
(सर्वर)

servers

Internet में इस्तेमाल होते है Servers. ये भी giant computer है. बल्कि ये कई कम्प्यूटर्स की समूह है. इसके माद्यम से एक network तैयार किया जाता है. और कई सारे कम्प्यूटर्स को इस नेटवर्क से जोड़ा जाता है. उदाहरण के लिए, हम जो भी इंटरनेट में search करते है या कुछ भी नेट पर काम करते है वो सर्वर के माद्यम से हमारे personal computer तक पोहोचते है. किउकी हमारा PC जुड़ा रहता है उस बिशाल कंप्यूटर के साथ internet के माद्यम से.

कुछ और प्रकार – Few more types of computer

ऊपर बताई गई Traditional Computer के प्रचलित प्रकार है. जिसे हम कंप्यूटर नाम से जानते है. मगर इनके अलावा कुछ other type of computer है. जिसे कंप्यूटर न कहके हम Smartphone, Gaming Console, Smart Watch, Smart TV आदि के नाम से जानते है. चलिए अब एक एक करके इनके बारेमे संक्षिप्त में बिबरन लेते है.

Pocket Computer

Smart phone computer

Smart Phone: दोस्तों आज के जमाने में हम अपने पॉकेट में smart computer ले कर घूमते है. जिसे हम Smart Phone कहते है. इन्हे कंप्यूटर कहने का तात्पर्य क्या है? ये एक computer में होने बाले हर काम को primary steps में करने में सक्छम है. जी हाँ, Apps के द्वारा आप हर वो काम कर पाएंगे, जो एक प्रचलित कंप्यूटर (popular computer) कर सकते है.

इनमे आप word excel sheet का काम कर सकते हो. छोटा मोटा डिज़ाइन बना सकते हो. Image video edit कर सकते हो. Net surfing के साथ games खेल सकते हो. movies देख सकते हो. Camera से photo click कर सकते हो. एक्साम्पल: Apple iPhone एक दमदार Smart Computer है.

Wearable Computers

Watch which is smart watch is also a computer

Smart Watch: इस तरीके के computers को आप हाथ में पहन सकते है. इन्हे wearable computer कहा जाता है. इनमे application के द्वारा आप smartphones के जैसा ही बोहोत से काम कर सकते हो.

पर इन्हे उपयोग किया जाता है fitness tracker और phone call receiver के रूप में. ये स्मार्ट वाच आपका दिलके धरकन को माप सकता है. आपका डेली fitness रूटीन को monitor कर सकते है. एक्साम्पल: Samsung Gear के बेहतरीन wearable computer है.

New Gen Computer

video gaming console computer

Video Gaming Console: New Gen Computer कह सकते है इन्हे आप. किउकी gaming तो हाल ही में popular हुयी है. Gaming Console Computer ही है. बस इसमें आप सिर्फ गेम्स खेल सकते हो. इसके लिए आपको monitor की जरुरत पड़ेगी. या फिर आप इसे अपने television के साथ भी जोड़ सकते हो. एक्साम्पल: PlayStation 4 Pro, Xbox One S ये दोनों ही powerful game console है.

smart tv computer

Smart TV: Technology का smart होने के साथ ही हमारे चारो और की चीजे भी बदल रही है. लगभग सभी साधारण सामग्री smart device में परिबर्तित हो रही है. उनमे आपका TV भी शामिल है. अभी जमाना आ गया है smart TV का. जिसे आप android TV भी कहते हो. जिसमे फ़ोन के जैसा ही apps की भंडार है. और इन apps के जरिये आप लगभग वो सारे काम कर सकते हो जो आप computer में करते हो.

आप online content को अपने TV पर ला सकते हो. video streaming कर सकते हो. YouTube, Netflix जैसे सर्विस की उपयोग भी कर सकते हो. एक्साम्पल: Samsung Smart TV, Sony, TCL के popular smart TV काफी चलती है.

कंप्यूटर का अनुप्रयोग – Application of the Computer hindi

दोस्तों आज का समय पूरी तरह computer dependent हो चूका है. हमारे घर से लेकर सामने बाला दुकान या super market सभी जगह कंप्यूटर पोहोच चुके है. इसके बिना हम हमारे जीबन सोच भी नहीं सकते. हमारे education, business, finance, travel, marketing, health, Security, Insurance, Communication, Engineering सभी में आज कंप्यूटर अनिबर्य एक सामग्री बन चूका है. यहाँ तक की Government Sector में भी यूज़ किया जाता है.

कोई भी production और invention कंप्यूटर के बिना मुश्किल सा लगता है. हमारे Smartphones से लेकर हमारे cars तक में computer chip का इस्तेमाल होता है. अभी तो bikes भी chips लगी आ रही है. चलिए थोड़ा डिटेल्स में जानते है computer की कुछ उपयोग.

Education, Business, Banking

Education में कंप्यूटर:
Computer Based Education या CBE अभी के शिक्षा व्यवस्था में काफी पॉपुलर एक प्रयोग है. इसमें नियंत्रण, वितरण और सीखने का मूल्यांकन (control, delivery, and evaluation) के माद्यम से छात्रों को सिखाया जाता है. जिसमे students और भी तेजी से सीखते है. इसके अलावा स्टूडेंट्स की दस्ताबेज database के रूप में रख्हा जाता है. ये paperless work को बराबा देता है. और भी कई नए methods लाया गया है कंप्यूटर के माद्यम से शिक्षा देने की. जैसे अभी Online Classes कभी चर्चा में है. जिससे स्टूडेंट्स घर बैठे सिख सकता है.

Business में कंप्यूटर:
Calculation में तेजी और accuracy लाने के लिए अभी छोटा बड़ा सभी business में कंप्यूटर का उपयोग होने लगा है. इससे छोटेमोटे दुकानदार अपने customers का खता मैनेज करते है. और वही बड़ा सा business organizations अपने employees का Payroll calculations करते है. इसके अलावा Sales analysis, stocks के Maintenance, Finance management और Budget देखने के लिए computer काम में आता है.

Banking में कंप्यूटर:
वित्तीय कार्य में कंप्यूटर तो जैसे जान बन चुका है. computer के बिना बैंक जैसे बंद सी हो जाएगी. किउकी bank में लगभग हर काम कंप्यूटर की माध्यम से ही किया जाता है. customer की खता क जानकरी. cash flow सभी को manage computer द्वारा किया जाता है. इसके अलावा अभी ग्राहक online banking से सारे काम अपने laptop पर बैठ कर ही कर लेता है. ATM से कॅश निकलते वक़्त computer screen पर ही सारे display से navigation किया जाता है.

Marketing, Healthcare, Communication, Defense

Marketing में कंप्यूटर:
मार्केटिंग आज के जमाने का सबसे बड़ा छेत्र में से एक है. और online marketing तो हर बिज़नेस में इस्तेमाल होता है. चाहे आप कुछ सामान ख़रीदे इसमें आपको computerized catalogues मिलते है. या अगर आप online ads का यूज़ करे, दोनों ही मार्केटिंग कंप्यूटर के बिना सम्भब नहीं है. छोटा बड़ा हर किस्म का business अभी sell promote करने के लिए Google ads या Facebook ads का इस्तेमाल करते है. और ये एड्स को बनाते है ads professional. वो कंप्यूटर का इस्तेमाल करके शानदार graphic बनाते है. Video भी बनाई sells में बड़ोतरी होती है.

Healthcare में कंप्यूटर:
स्वास्थ्य देखभाल में भी कंप्यूटर मौजूद है. कैसे? hospitals, labs, dispensaries सभी में तो कंप्यूटर रहता है. ये रोगियों का और medicines का रिकॉर्ड कंप्यूटर में रखते है. इसके अलावा CT scans, ECG, ultrasounds, EEG सभीमे कम्प्यूटर्स मौजूद है. और अभी तो Surgery भी computer से हो रहा है.

Communication में कंप्यूटर:
हम text message, voice message या picture के माध्यम से लोगो से online communicate करते है. जैसे email भेजते है, Video-conferenc करते है, Chatting करते है. इन सभीमे computer या smartphones का इस्तेमाल करते है.

Defense में कंप्यूटर:
Military में कंप्यूटर एक जरूरत बन चुका है. देश की रक्षा में missiles, tanks, और modern weapons भी कंप्यूटर से परिचालित होता है. नए जमाने का drone, robotic aircraft का इस्तेमाल मिलिट्री में होता है. इन्हे भी कंप्यूटर से ही चलाया जाता है.

Government, Engineering, Entertainment

Government में कंप्यूटर:
हमारे गवर्नमेंट हर काम में कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है. जैसे नया बजट पेश किया जाता है. उसे कंप्यूटर की मदत से ही तैयार किया जाता है. Income tax department में दस्तावेजों को कंप्यूटर में सेव करके रखा जाता है. voters lists को computerize किया गया, ताकि और भी सही तरीके से voting हो पाए. Weather forecasting को हम कंप्यूटर की मदत से ही जान पाते है. और भी गवर्नमेंट चैत्र है जहां कंप्यूटर इस्तेमाल में लगता है जैसे Traffic control, Aviation, Space, Tourism इत्यादि.

Engineering में कंप्यूटर:
दोस्तों कोई भी अविष्कार में, अभी कंप्यूटर के सहायता से प्रयोग आसान हुआ है. या इउ कहे, मुमकिन हुआ है. कोई कोई बिज्ञान के चैत्र कंप्यूटर के बिना अधूरी है. अगर हम space science के बात करें. तो उसमे कंप्यूटर अनिबर्य है. मगर वह और भी advanced computer का इस्तेमाल होता है. इसके अलावा modern engineering में workshop में आधुनिक robots रहते है. कोई research में कंप्यूटर का उसे देखा जाता है.

Entertainment में कंप्यूटर:
मनोरंजन के चित्र तो बिना कंप्यूटर का मानो थम सी जाये. Editing, Scripting, Layout, Recording इन सभी काम में कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है. Movies का shooting होने के बाद उन्हें कंप्यूटर में frame किया जाता है. Posters का design कंप्यूटर पर ही होता है. और अगर दूसरी तरफ देखे तो आप TV पर जो सीरियल देकते है और सीरियल के बिच में जो ads देकते है उन्हें भी computer की जरुरत परा है. आजकल तो movie tickets भी online booking की जाती है.

कंप्यूटर का फायदा

दोस्त 2020 में कंप्यूटर हमारे जीवन का एक अंस बन चूका है. हमारे कोई भी काम को कंप्यूटर की मदत से, तेजीसे और ज्यादा perfection के साथ हम कर सकते है. कंप्यूटर हमारा समय का बचत करते है. और time consuming काम को कई गुना जल्दी कर देता है. और कंप्यूटर में हम एक साथ कई कामोंको कर सकते है. पहले के ज़माने में हम दस्ताबेज(important documents) को सम्हाल कर कई रखते थे और बाद में भूल भी जाते थे.

मगर अभी Computer Era में आसानी से जरूरी दस्तावेज को computer file के रूप में सम्हाल कर रख सकते है. और जरूरत पड़ने पर मिल भी जाता है. computer एक मशीन नहीं जैसे एक multi tasking manager के जैसा हमारे साथ काम करता है. वैसे और भी अनगिनत value कंप्यूटर हमारे जीबन में जोड़ रहा है. इसीलिए अगर लाभ के बारे में कहे तो Computers की अनगिनत benefits है हमारे लाइफ में.

फिरभी computer popularity, उनके तीन कामों के लिए बढ़ती ही जा रही है. वो है
1. Speed से काम को करने का काबिलियत.
2. Accuracy से काम को करने का हुनर.
3. Multitasking करने का योग्यता.

Speed-Accuracy-Multi Tasking

Speed:
दोस्तों एक मनुष्य ही computer invent किया है. मगर ये एक machine है. और हम सब जानते है मशीन में काम करने का power एक इन्शान से बोहोत ज्यादा होता है. और ये electronic machine लगातार बिना थके speed के साथ काम को जल्दी कर सकते है. हाँ ये बात अलग है की इसे एक इन्शान की assistance जरूर चाहिए. मगर अभी तो advanced computer तो ऐसा बन चूका है. जो automatic तरीके से human interference के बिना ही काम कर सकता है.

Accuracy:
Perfection की बात करें तो वो इंसान के level का नहीं हो सकता. मगर accuracy computer में ज्यादा होता है. हम मनुस्य एक समय के बाद थकने लगते है. और हमारा दिमाग भी थक जाता है. तब काम में भी गलतियां होने की probabilities पर computer एक device है. जो mechanical और computing तरीके से repeatedly एक ही काम को १००% accuracy से कर देता है. वो कोई calculation हो या फिर अन्य काम हो.

Multi-tasking:
मल्टीटास्किंग कंप्यूटर की एक नायब गुण है. जो एक कंप्यूटर को इन्शान से बोहोत ही काबिल बना देता है. multitasking मतलब एक ही समय पर अलग अलग काम को एक साथ करना. और कंप्यूटर एक साथ कई command को लेकर result आपको दे सकता है.

कंप्यूटर का नुकसान

हज़ारो advantages के बाद भी कंप्यूटर की कुछ गंभीर drawback या disadvantage को हम नज़र अंदाज़ नहीं कर सकते. सबसे महत्यपूर्ण बात ये है की, कंप्यूटर damage कर रहा है manpower का इस्तेमाल. बड़े बड़े organization अपने छत्र में इन्शान के जगह पर कंप्यूटर को ज्यादा प्रेफर कर रहे है.

एक सदी पहले भी जहा hand made को ज्यादा प्रोत्साहन दिया जाता था. अभी robots उनका जगह ले चुके है. handmade products तो हम कभीकभार साख से खरीद लेते है. पर इसे लाख हम drawback कह ले.मगर प्रगति को तो स्वागत करना ही परता है. पर कंप्यूटर की इस्तेमाल बढ़ने के साथ हज़ारो लोग बेरोजगार भी हो गए है. आने बाले समय में ये और ज्यादा होने बाला है. दोस्तों कंप्यूटर की disadvantages को अगर टेक्निकल नज़रियाँ से देखे तो इनके और कई प्रकार का harm है. जैसे…

  • Computer Virus
  • Cyber Crime
  • Privacy Hacking
  • Health Issues
  • Create Dependency
  • Impacts the Environment

Virus, Cyber Crime, Hacking

Computer Virus: कंप्यूटर वायरस कोई जिबनु नहीं बल्कि ये computer virus एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम है, जो अगर सिस्टम में आ जाये तो वो पहले से run कर रहा computer programs को बदल देता है. इसके लिए ये वायरस खुदका code system में install कर देता है. और आपका कंप्यूटर hack भी हो सकता है. इसीलिए हम anti virus software का इस्तेमाल करते है. जो कुछ हद तक protection देता है.

Cyber Crime: Online network और computer का इस्तेमाल करके अगर कोई किसी को धमकी देता है. या फिर किसका financial statement को चोरी करता है. या फिर जरुरी data को कॉपी करता है. तो इसे हम साइबर क्राइम कहते है. वैसे ये छोटा उद्धरण था. इससे भी बड़े पैमाने पर cyber crime होता होगा.

Privacy Hacking: Hacking भी साइबर क्राइम के अंदर आता है. इसमें भी किसीकी इजाजत के बिना उसके प्रॉपर्टी में नोकझोक किया जाता है. बस फ़र्क़ इतना है की ये ऑनलाइन होता है. इसीलिए कई बड़े बड़े company अपना खुदका hacking expert को रखते है. इन Security hacker का काम होता है, कंपनी को online protect करना.

Health Issue, Dependency

Health Issues: computer screen से कई तरह का हानिकारक rays निकलते है. इनमे से एक UV radiation भी होता है. जो हमारे eyes और skin के लिए harmful होता है.हलाकि अभीके modern LCD or LED screens बोहोत कम या न के बरार इन रेज़ को निकालते है. फिरभी देरतक स्क्रीन के सामने बैठे रहने से, आंखोमे strays जरूर होता है. इनके इलावा weight gain, anxiety जैसे common health issue हो सकता है. अगर आप सावधानी से इस्तेमाल कर सकते है. और बिच बिच में ब्रेक लेते है. फिर कोई असुबिधा नहीं होने का संभावना है.

Create Dependency: दोस्तों कंप्यूटर काम को आसान तो बनाता है, साथ में ही हमें अलसी और dependent भी बना देता है. हम कोई चीज कंप्यूटर में type करते वक़्त auto correction tool का इस्तेमाल करते है. आप खुदही सोचो, अगर हमारे spelling errors को हम spell checker से सुधरते रहे तो हम गलती को सुधरने के लिए सिखने का कोशिश कभी नहीं करेंगे. और निर्भर रहेंगे spell checker के ऊपर. और भी tools है जिसके ऊपर हम निर्भर है. जैसे calculator, Grammarly, GPS इत्यादि. ये सभी helpful tools है.

Environment Pollution

Impacts the Environment: हर घर पर एक कंप्यूटर तो होता ही है. पर अभी तो एक से ज्यादा भी है. laptop, tablet, smartphone, smart gadgets इत्यादि. ये घराब भी होते है. इनके पार्ट्स को बदला भी जाता है. और बदले हुए चीजोंको फेका जाता है. कुछ recycle भी होते है. मगर जो रीसायकल नहीं होते है, वो चीजे environment प्रदुसित करते है.

Note: दोस्तों advantage और disadvantage को हमने बता तो दिया. मगर हमारा खुद का नजर में computer एक आशीर्वाद है इन्शान के लिए. कंप्यूटर को अगर तरीके से इस्तेमाल किया जाये तो ये एक बड़ी power है. हमारे hindiblog को आप computer या mobile के इस्तेमाल से ही पढ़ रहे है. और हमने भी इनके मदत से ही subhra som को बना पाएं. कंप्यूटर के बिना आजका जमाना चल नहीं सकता. ये हमारा राय है.

history of computer in hindi

दोस्तों Charles Babbage को father of computer के नाम से जाना जाता है. और ये नाम उनको मिला था digital computer को बनाने के कारन. कंप्यूटर एक Latin शब्द से लिया हुआ वर्ड है. इसकी पीछे इतिहास Continue Reading

Summary

  1. Computer definition ‘एक electronic device, जिसे data process करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है’.
  2. हमारा Computer सिर्फ 0 और 1 numeric language ही समझता है.
  3. हम Computer को programming के माध्यम से instruction दिया जाता है.
  4. Computer दिए गए कमांड को store(संग्रहीत), retrieve(पुनर्प्राप्त), and process data(संसाधित) के अनुक्रम में पूर्ण करता है.
  5. कंप्यूटर की कार्य प्रक्रिया का मुख्य 3 steps है. Input Data, Process Data, Output Data.
  6. Basic parts of a computer system: Monitor, CPU (Central Processing Unit), Keyboard, Mouse, Speakers, Printer, UPS
  7. Parts of Computer CPU: Motherboard, Processor/CPU, RAM, ROM, BIOS, Storage, SMPS, GPU, ODD
  8. Types of computer: Desktop Computers, Laptop Computer, Tablet computers, Servers
  9. Other Types of computers: Smartphone, Smartwatch, Video Gaming Console, Smart TV.
  10. Application of the Computer: Education, Business, Banking, Marketing, Healthcare, Communication, Defense, Government, Engineering, Entertainment.
  11. Computer का फायदा: Speed-Accuracy-MultiTasking.
  12. Computer का नुकशान: Computer Virus, Cyber Crime, Privacy Hacking, Health Issues, Create Dependency, Impacts the Environment.
  13. हम कंप्यूटर की 5th Generation में है.